मेंटेनन्स का दर और मेंटेनन्स शेड्यूल की प्रीपेरिंग

मेंटेनन्स शेड्यूल 


मेंटेनन्स का दर [ FREQUENCY OF MAINTENANCE ]


MAINTENANCE


मेंटेनेंस का दर नीचे दिए गए बातो पर आधारित है 


[1] मशीन की महत्व 

[2] ड्यूटी साइकिल  

[3] ओवरलोड और सर्विस कंडीशन  

[4] मशीन या साधन का आयुष्य  


[1] मशीन की महत्व  

यदि मशीन का  IMPORTANCE ज्यादा हो  तो  उस मशीन में आनेवाले हर मेंटेनेस को अटेन्ड करे और दी गई दूसरे मशीन कोई मेंटेनेंस आये तो उस मशीन को मेंटेनेंस को कम से कम समय में अटेन्ड करे 


[2] ड्यूटी साइकिल  

मशीन कितने प्रमाण में चल रही है और कितने प्रमाण में बंद है यह उसके मेंटेनेस के ऊपर आधारित होता है जैसे की कुछ मशीने या इक्विपमेंट दिन में कुछ घंटे बंद रहे या बीच बीच में मशीन चालू बंद हो तो उस समय उसमे मैटेनन्स करना जरूरी हो जाता है 

इसमें कुछ मशीन सतत चालू कंडीशन में रहती है जिसमे कोई खराबी  नहीं आती है तो उसमे मेंटेनेंस करने की जरूरत नहीं होती है 


[3] ओवरलोड और सर्विस कंडीशन  

मशीन की जितनी क्षमता है मशीन उतने ही लोड या उतने ही प्रमाण में चले तो मशीन में कोई प्रॉब्लम नहीं आएगी परन्तु मशीन पर जरूरत से ज्यादा लोड या उसकी क्षमता से अधिक चलाया जाय तो  मशीन पर ओवरलोड होता है और यह ओवरलोड कितने प्रमाण में होता है

 मशीन पर ओवरलोड कितने समय तक रहता है  यह सभी बाते मैटेनस के दर ( Frequency ) पर असर करती है 


[4] मशीन या साधन का आयुष्य 

यदि मशीन या अथवा साधन नया हो तो मशीन पर शुरुआत में किसी भी प्रकार का मैंटेनस जल्दी नहीं आता है इससे मेंटेनेस की फ्रीक्वेंसी दर कम रहती है परन्तु मशीन अगर पुरानी हो जाये तो यह स्वाभाविक है की मेंटेनेस का दर बढ़ जाता है 


मेंटेनेस शेड्यूल बनाते समय ध्यान में रखी जाने वाली बाते 


इलेक्ट्रिकल साधन की जानकारी के लिए समयपत्रक बनाते समय नीचे दिए गए मुद्द्दे ध्यान में रखना जरूरी है 


[1]  मशीन की साइज  

[2]  मशीन का प्रकार  

[3]  मशीन के स्टॉलेशन की जगह  

[4]  साधन के प्रोटेक्शन के लिए की जाने वाली व्यवस्था  

[5]  इक्विपमेंट की अक्सेसरीज़  

[6]  प्लांट चलाने की रीत  

[7]  मशीन फ़ैल होने की शक्यता  

[8] मेंटेंनेस का खर्च  

[9] मशीन बंद पड़ने  वाली असर  

[10] स्टैंडबाय मशीन की कीमत  


इलेक्ट्रिकल साधन में होने वाली आपूर्ति जानकारी के कारण उदभव होनेवाली खामी 

इलेक्ट्रिकल साधन की योग्य जानकारी होना बहुत जरुरी है यदि इस तरह  जानकरी की आपूर्ति होने से मशीन में क्षति उत्पन्न होती है इस प्रकार अलग अलग प्रकार की मशीन में अलग अलग प्रकार की खामी उत्पन्न होती है 

इसलिए हमे हर एक मशीन की पर्याप्त जानकारी होना जरूरी है 

यह पर हम सामान्य खामियों के बारे में जानेंगे 

जो नीचे कुछ इस प्रकार से दिया गया है 


[1] मशीन की कार्यदक्षता [ EFFICIENCY ] घटती है 

[2] मशीन की कैपेसिटी में कमी होना 

[3] वाइंडिंग  टेम्प्रेचर बढ़ता है 

[4] बेयरिंग  टेम्प्रेचर में बढ़ोतरी होना 

[5] शार्ट सर्किट होने की सम्भवना होना 

[6] अर्थ फाल्ट होने की सम्भवना 

[7] आग लगना 

[8] गंभीर अकस्मात की घटना 

[9] मशीन का सप्लाई बंद हो जाना 


आपूर्ति जानकारी होने के कारण इलेक्ट्रिकल साधन बंद होने के कारण 

यदि इलेक्ट्रिकल इक्विपमेंट की योग्य जानकारी न हो तो इक्विपमेंट में कोई प्रोब्ल्र्म होने से इक्विपमेंट बंद हो 

सकता  है 

इसके लिए नीचे बताये गए कुछ कारण इस तरह के है 


[1] साधन की होने वाली आपूर्ति सफाई  

[2] नमी की हाज़िरी 

[3] वेंटिलेशन का प्रमाण कम होना 

[4] ख़राब इंसुलेशन 

[5] साधन का घिसना 


[1] साधन की होने वाली आपूर्ति सफाई  

साधन को सही ढंग से  साफ़ करना जरूरी है खास करके उस साधन को जो साधन धूल वाले वातावरण ने रखा गया हो ये ज्यादा जरूरी है क्युकी की धूल के रजकण साधन के अंदर जमा होते है 

यदि मशीन के किसी हिस्से पर आयल लीक होता हो तो धूल, कचरा वगैरह मशीन की बॉडी पर जमा होता है 

वाइंडिंग में कचरा जमा होने से उसमे उष्मा का दर घटता है और उसका टेम्प्रेचर बढ़ता है 

इस प्रकार मशीन को वैक्यूम क्लीनर , कपड़ा, केरोसिन योग्य चीज़ो से साफ़ किया जाता है 


[2] नमी की हाज़िरी 

नमी यह इंसुलेशन को बहुत बड़ा नुकशान पहुँचाता है और नमी के कारण इंसुलेशन रेसिस्टेन्स घटता है इसके कारण इंसुलेशन पंक्चर होने से शार्ट सर्किट और अर्थ फाल्ट होने की सम्भवना बढ़ जाती है इसके लिए हमे शुष्क हवामान की जरूरत होती है 

यदि मशीन में नमी आ गई हो तो इलेक्ट्रिकल लैंप की गरमी की मदद से नमी उड़ाई जाती है 


[3] वेंटिलेशन का प्रमाण कम होना 


इलेक्ट्रिकल साधन को जब उपयोग किया जाता है तब तब उसमे ऊष्मा उत्पन्न होती है ये ऊष्मा साधन की बॉडी के जरिये वातावरण में फैलता है ये ऊष्मा का फैलाव अधिक होने से साधन का टेम्प्रेचर बढ़ता है 

ये टेम्प्रेचर अधिक प्रमाण में बढ़ने से मशीन की वाइंडिंग की टेम्प्रेचर बढ़ जाता है  इससे वाइंडिंग का इंसुलेशन जल सकता है इसलिए मशीन के वाइंडिंग का इंसुलेशन में कोई खराबी न हो इसलिए वेंटिलेशन की जरूरत होती है होती है 


[4] ख़राब इंसुलेशन [ POOR INSULATION ]


किसी भी चालक तार पर इंसुलेशन चढ़ाकर उसका इलेक्ट्रिक साधन में  जाता है और इसमें इंसुलेशन रेसिस्टेन्स सही होना चाहिए यदि इसमें इंसुलेशन रेसिस्टेन्स का प्रमाण  कम हो तो इंसुलेशन पंक्चर हो सकता है वाइंडिंग का इंसुलेशन नुकशान / खराब हो सकता है 

इसलिए मशीन के वायर या वाइंडिंग का इंसुलेशन अच्छा होना चाहिए 


[5] साधन का घिसना [ WEAR AND TEAR ]

साधन को लम्बे समय तक उपयोग  होने से उसके कुछ भागो में नुकशान होता है खास करके रोटेट मशीन में ज्यादा प्रमाण में होता है 

जैसे की कम्यूटेटर , स्लिपरिंग पर ब्रश के कारण खांचा पड जाने से ब्रश भी घिस जाता है 




Post a comment

0 Comments